Sun. May 19th, 2024

News India19

Latest Online Breaking News

लू-प्रकोप (हीटवेव) से बचाव हेतु जिला प्रशासन ने जारी किये दिशा-निर्देश।लू-प्रकोप (हीटवेव) से बचाव के लिये टोपी, गमछा या छाते का करें प्रयोग, साथ ही शरीर में पानी की कमी से करें बचाव

 

  • लू-प्रकोप (हीटवेव) से बचाव हेतु जिला प्रशासन ने जारी किये दिशा-निर्देश।लू-प्रकोप (हीटवेव) से बचाव के लिये टोपी, गमछा या छाते का करें प्रयोग, साथ ही शरीर में पानी की कमी से करें बचाव
  • आगरा.19.04.2024/अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) श्रीमती शुभांगी शुक्ला ने अवगत कराया है कि जनपद में विगत दिवसों में बढ़ते तापमान के कारण लू-प्रकोप (हीटवेव) से बचाव हेतु जिलाधिकारी, आगरा के निर्देशों के क्रम में समस्त जनपद स्तरीय कार्यालयों एवं तहसीलों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये गये है, जो कि इस प्रकार हैं कि कड़ी धूप में अनावश्यक बाहर न निकलें, खासकर दोपहर 12 बजे से 03 बजे तक के मध्य, अगर आपका काम बाहर का है तो टोपी, गमछा या छाते का इस्तेमाल जरूर करें और गीले कपडे़ को अपने चेहरे, सिर और गर्दन पर रखें, कड़ी धूप में अत्यधिक शारीरिक श्रम करने से बचें एवं थोड़े-थोड़े अन्तराल पर विश्राम लें, हल्के रंग के ढीले सूती कपडे़ पहने, सफर में अपने साथ पानी रखें, जितनी बार हो सके पानी पीयें, प्यास न लगे तो भी पानी पीयें, जानवरों को छांव में रखें और उन्हें पर्याप्त पानी पीने को दें, धूप में खड़े वाहनों में बच्चे एवं पालतू जानवरों को न छोडें, खाना बनाते समय कमरे के दरवाजे एवं खिड़की खुले रखें, जिससे हवा का आना-जाना बना रहें, घर में बना पेय पदार्थ जैसे कि लस्सी, नमक-चीनी का घोल, नींबू पानी, छाछ, आम का पना, फलों का ताजा जूस, वेल का शर्बत एवं नारियल पानी इत्यादि का सेवन करें, मौसमी फल जैसे तरबूज, खरबूज, खीरा, ककड़ी एवं सन्तरा इत्यादि का भी सेवन करें, संतुलित, पौष्टिक व हल्का भोजन नियमित करें, भोजन में दही एवं सत्तू को भी सम्मिलित करें, उच्च प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करने से बचें, बासी भोजन करने से बचें, चाय, कॉफी, शराब जैसे पेय पदार्थों का इस्तेमाल न करें, यह शरीर को निर्जलित कर सकते है, अपने घर को ठण्डा रखें, पर्दे, शटर आदि का इस्तेमाल करें, रात में खिड़कियां खुली रखें, ठंडे पानी से बार-बार नहायें, खिड़की को रिफलेक्टर एवं गत्ते इत्यादि से ढककर रखें, ताकि बाहर की गर्मी को अन्दर आने से रोका जा सके, आपात स्थिति से निपटने के लिये प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण लें, स्थानीय मौसम के पूर्वानुमान को सुनें और आगामी तापमान में होने वाले परिवर्तन के प्रति सतर्क रहें।
  • इसके अलावा उन्होंने आगे यह भी अवगत कराया है कि लू लगने पर लू लगे व्यक्ति को छायादार ठंडे स्थान पर पंखा/कूलर आदि के सामने लिटायें, शरीर का तापमान कम करने के लिए शरीर, गर्दन, सिर एवं पेट पर ठंडे पानी से गीला किया हुआ कपड़ा रखें, व्यक्ति को ओआरएस घोल, छाछ एवं शर्बत पिलायें, यदि आराम न मिले तो तुरन्त नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र/अस्पताल में ले जायें

विज्ञापन 3

LIVE FM