Wed. Jun 7th, 2023

News India19

Latest Online Breaking News

आगरा मे आज मा0 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), समाज कल्याण उत्तर प्रदेश, सरकार श्री असीम अरुण जी की अध्यक्षता में सर्किट हाउस सभागार में चमड़ा एवं जूता उद्योग से जुड़े विभिन्न बिंदुओं पर समीक्षा बैठक संपन्न हुई।

आगरा मे आज मा0 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), समाज कल्याण उत्तर प्रदेश, सरकार श्री असीम अरुण जी की अध्यक्षता में सर्किट हाउस सभागार में चमड़ा एवं जूता उद्योग से जुड़े विभिन्न बिंदुओं पर समीक्षा बैठक संपन्न हुई। उक्त बैठक का उद्देश्य मा0 मंत्री जी के विगत आगरा भ्रमण के दौरान चमड़ा एवं जूता उद्योग से जुड़े स्थानीय नागरिकों, समूहों के द्वारा दिये गये सुझावों एवं शिकायतों के सम्बन्ध में कार्य योजना बनाकर क्रियान्वयन सुनिश्चित करना था।
बैठक में चमड़ा एवं जूता उद्योग से जुड़े स्थानीय नागरिकों समूहों के माध्यम से प्राप्त सुझाव एवं शिकायतों पर विचार विमर्श किया गया, जिसमें चर्म कला बोर्ड के गठन की मांग के विषय पर संयुक्त आयुक्त उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केंद्र आगरा द्वारा अवगत कराया गया कि चर्म कला बोर्ड के गठन हेतु प्रस्ताव तैयार कर भेजा गया है, इस संबंध में जनपद स्तर से कार्यवाही न होकर, बोर्ड का गठन हेतु शासन स्तर पर कार्यवाही अपेक्षित है। बैठक में उद्योग से जुड़े स्थानीय नागरिकों, समूहों के द्वारा एल0ए0एम0सी0ओ0 राज्य स्तर की इस अण्डर टेकिंग पब्लिक सेक्टर कम्पनी को पुनर्जीवित करने हेतु सुझाव रखा गया, जिस पर मा0 मंत्री जी ने सम्बन्धित को कार्य मे प्रगति लाने के निर्देश दिए। बैठक में चर्म उद्योग से जुड़े स्थानीय नागरिकों, समूहों के द्वारा बताया गया कि 10 वर्ष पूर्व आगरा में बनायी गयी जूता मण्डी समुचित रूप से संचालित नहीं हो रही तथा जिस उद्देश्य से स्थापना की गई थी, वह उद्देश्य पूरा नहीं हो रहा, जिस पर संयुक्त सचिव आगरा विकास प्राधिकरण द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान में जूता मंडी में 149 क्लस्टर एवं 22 गोदाम रिक्त हैं, जूता मंडी का निर्माण कार्य 10 वर्ष पूर्व हुआ था, जिस पर मा0 मंत्री जी ने इसको सही तरीके से संचालित कराने पर विचार करके कार्य योजना बनाकर प्रस्ताव प्रेषित करने के निर्देश दिए।
बैठक में कौशल विकास कार्यक्रम के तहत जूता उद्योग से जुड़े उद्यमियों को प्रशिक्षण आदि के सम्बन्ध में विचार किये जाने का सुझाव दिया गया, जिस पर मा0 मंत्री जी ने कहा कि जिला समन्वयक जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के तहत जूता उद्योग से जुड़े उद्यमियों को प्रशिक्षण की गुणवत्ता बढ़ाए जाने की आवश्यकता है एवं उद्योग के अनुरूप प्रशिक्षण दिलाने के निर्देश दिए। बैठक में चमड़ा एवं जूता उद्योग से जुड़े स्थानीय नागरिकों, समूहों के द्वारा श्रम विभाग के पोर्टल पर चर्म उद्योग से जुड़े मजदूरों, कारीगरों के पंजीकरण कराये जाने के सम्बन्ध में मांग रखी, जिस पर सहायक श्रमायुक्त श्रीमती पल्लवी अग्रवाल ने बताया कि श्रम विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण हेतु भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अंतर्गत 40 श्रेणियों को भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार से संबंधित निर्माण कर्मकार को वर्गीकृत किया गया है, विभागीय पोर्टल पर चमड़ा कारीगर का रजिस्ट्रेशन कराया जाना सम्भव नहीं है, जिस पर मा0 मंत्री जी ने श्रम विभाग को प्रस्ताव प्रेषित करने के निर्देश दिये। बैठक में समाज कल्याण विभाग द्वारा कौशल विकास तथा उद्यमिता विकास के कार्यक्रम चलाये जाते हैं, कार्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने हेतु स्थानीय कारीगरों को बुलाया जा सकता है तथा इस प्रकार उद्योग को बढ़ावा दिया जा सकता है, जिस पर जिला समाज कल्याण अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा कौशल विकास तथा उद्यमिता विकास हेतु प्रधानमंत्री अनुसूचित जाति अभ्युदय योजना के कार्यक्रम चलाए जाते हैं इस प्रकार के कार्यक्रम के बारे में जानकारी प्रदान करने हेतु स्थानीय कारीगरों को बुलाया जाए या गली मोहल्लों में कैंप लगाकर इस योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ ही उद्योग क्षेत्र को बढ़ावा भी मिलेगा और क्षेत्र का विकास होगा।
इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री नवनीत सिंह चहल, संयुक्त आयुक्त उद्योग श्री अनुज कुमार, एडीए सचिव, श्रीमती गरिमा सिंह, उप निदेशक समाज कल्याण श्री आनन्द कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी श्री सतीश कुमार, सहायक श्रमायुक्त श्रीमती पल्लवी अग्रवाल एवं महामंत्री, श्री रूप सिंह सोनी सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे

विज्ञापन 3

LIVE FM