Mon. Dec 5th, 2022

News India19

Latest Online Breaking News

जनता पर हुये अत्याचार का बदला लिया जायेगा-रसाल सिंह

*जनता पर हुये अत्याचार का बदला लिया जायेगा-रसाल सिंह*

*व्यापारी हम शर्मिंदा है तेरा कातिल जिंदा-रोमेश महंत*

*05 जनवरी 2020 के दिन पुनः नही दोहराया जाएगा-अशोक चौधरी*

💥दबोह-
जनता पर हुए अत्याचार का बदला लिया जायेगा यह बात पूर्व विद्यायक रसाल सिंह ने दबोह में मनाये जा रहे काला दिवस के दौरान कही।यहा बता दें कि अब से ठीक एक वर्ष पूर्व 5 जनवरी 2020 को कॉंग्रेस शासन काल मे अतिक्रमण के नाम पर हरे भरे दबोह को खंडर में तब्दील किया गया था जिसमे अतिक्रमण के नाम पर प्रशासन ने कई पुस्तेनी मकान व दुकानो को बिना कोई पैमाइश किये हुए अनैतिक तरीके से धराशायी कर दिया था।इसी दिन नगर में दो जेसीबी व एक पोकलेन मशीन ने कई परिवारो के आशियाने को नगरीय प्रशासन व राजस्व विभाग के अधिकारियों की संयुक्त कार्यवाही से तहस महस कर दिया था जिसके चलते दबोह नगर खंडर में तब्दील हो गया था।उसी का विरोध प्रदर्शन करते हुए दबोह व्यापारियो के सहयोग से भाजपा पार्टी ने 5 जनवरी 2021 को काला दिवस के रूप मनाया।जिसके चलते भाजपा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ एक विशाल रैली निकाली गई जो स्थानीय विश्राम गृह से शुरू होकर झंडा चौक पर आकर आम सभा मे परवर्तित हो गई।आमसभा में मुख्यातिथि के रूप में पूर्व विधायक रसाल सिंह मौजूद रहे तो वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर ने की।अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर ने कहा कि कॉंग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में अब भाजपा की सरकार है इसलिए किसी भी व्यापारी को किसी से भी डरने की जरूरत नही है।भाजपा किसी के भी साथ अन्याय नही होने देगी उन्होंने कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे लहार विधायक पर भी निशाना साधा और दबोह को खण्डहर में तब्दील करने को लेकर उन्होंने कहा कि लहार विधायक ने अपने पावर का गलत इस्तेमाल करते हुए बदले की भावना को अंजाम दिया है।उन्होंने कहा कि पर अब ऐसा नही होगा अब बदला भी लिया जायेगा और बदलाव भी किया जाएगा।भाजपा के पूर्व विधायक रसाल सिंह ने आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज से ठीक एक साल पहले कॉंग्रेस के शासन काल मे दबोह की भोली भाली जनता के साथ कॉंग्रेस सरकार के इशारे पर प्रशासन के द्वारा जो अत्याचार किया था उसका माकूल जबाब दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि इस कृत्य में जो भी अधिकारी कर्मचारी लिप्त थे उन्हें किसी भी कीमत पर बक्शा नही जाएगा दबोह की सारी घटना को लेकर पार्टी नेतृत्व बता कर जिम्मेदारो को उचित दंड दिलवाया जाएगा।इसके क्रम में आम सभा को सम्बोधित करते हुए भाजपा नेता रोमेश महंत ने व्यापारियों से क्षमा मांगते हुए कहा कि व्यापारी से हम शर्मिंदा है तेरा कातिल जिंदा है उन्होंने सबसे पहले दबोह के सभी व्यापारियो व जनता से क्षमा मांगते हुए कहा कि जिस दिन नगर में आप लोगो पर प्रशासन द्वारा कहर बरपाया जा रहा था उस दिन हम लोग नही आ पाये यह हमारी गलती थी और हम इसके लिए अपने आप को दोषी मानते है उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में लहार की जनता बहुत सहनशीलता रखती है क्योंकि वह लगातार 30 सालो से कॉंग्रेस के विधायक के द्वारा किये जा रहे अत्याचारों के सामना कर रही है फिर भी इनती संख्या में कार्यकर्ताओं का शामिल होना यह दर्शता है कि काला दिवस मनाना सिर्फ हमारी ही नही आप सभी की भी मंशा थी उन्होंने कहा कि यह काला दिवस हमने अपना मान या बढ़ाने या कोई चुनाव जीतने के लिए नही किया गया बल्कि यह आपके सम्मान व आपको ऐसे अत्याचारियो से लड़ने की शक्ति को बढ़ाने के लिए मनाया गया है।वहीं इसी क्रम में मौजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता अशोक चौधरी ने कहा कि दबोह की जनता परेशान न हो मैं उनके साथ हूँ एक बर्ष पूर्व जो आपके साथ हुआ है वह मै आगे आपके साथ कभी नही होने दूंगा।उन्होंने मंच पर मौजूद मंच पर जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर व पूर्व विधायक रसाल सिंह से निवेदन करते हुए कहा कि जल्द ही दबोह की जनता के साथ हुए अत्याचार के लिए एक वरिष्ठ नेताओं की टीम गठित की जाए जिसमे पीड़ित लोगो को चिन्हित कर उनकी भरपाई के लिए प्रदेश नेतृत्व से मिला जाए।इसी के साथ रामकुमार महते पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष,हृदेश कुशवाह ररी,सन्तोष बोहरे पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मिहोना,नन्दराम बघेल पूर्व मण्डल अध्यक्ष लहार,सुरेशचंद्र बुधौलिया,राजेन्द्र गुर्जर,सुरेश कौरव ने भी आम सभा को सम्बोधित किया।आमसभा के अंत में जिलाध्यक्ष समेत भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने तहसीलदार नवीन भारद्वाज को मप्र के मुखिया शिवराज सिंह चौहान व भिण्ड कलेक्टर के नाम 11 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा और जल्द से जल्द जांच कर कार्यवाही करने की बात कही।मंच संचालन सन्तोष तिवारी के द्वारा किया गया।

*कौन कौन रहा मौजूद*

इस दौरान आमसभा में उमाशंकर चौधरी,रामकुमार महते पूर्व नप अध्यक्ष,भगवान नायक,सुरेश बुधौलिया,कल्याण कौरव स्वदेश,राजेन्द्र सिंह गुर्जर,कप्तान कौरव,नन्दराम बघेल,सन्तोष बौहरे,अरविंद सिंह,हृदेश राजावत ररी,परमाल गुर्जर,दिनेश शुक्ला,मनोज शास्त्री,सुरेश कौरव,अनुरुद्ध मुदगल,मनोज गुप्ता,घनश्याम दौहरे,केशव विजपुरिया,दीवान सिंह कौरव,अनूप त्यागी,मनोज शास्त्री,विकास बौहरे,कुलदीप कौरव,संजीव चौधरी,लालता कुशवाह,संजीब यादव,मुलायम यादव,नारायण दास बघेल,अमित महाजन,हृदेश नायक,महामंत्री राव साहब गुर्जर,रविन्द्र चिकवा,राजा यादव,जसमन्त दौहरे,जितेंद्र यादव,शशि बुधौलिया,शिवम चतुर्वेदी,मण्डल अध्यक्ष देवेंद्र उपाध्याय,कुलदीप सिंह कौरव,अनूप त्यागी,जबरसिंह कुशवाह,विकाश बौहरे आदि के साथ कई नेता मौजूद रहे।

*आखिर क्यों मनाया गया आज काला दिवस*

वाक्या 05 जनवरी 2020 रविवार की सुबह का है जब दबोह की जनता पर प्रशासन ने अपना कहर बरसाया था और बड़ी बड़ी मशीनो के द्वारा पुस्तेनी मकानों,दुकानों को ध्वस्त कर दिया गया था।इस अतिक्रमण मुहिम में लगभग 250 लोगो के घरों को टारगेट किया गया था जिससे नगर मे अफरा तफरी का माहौल निर्मित हो गया था।इन दौरान नगर पालिका,राजस्व विभाग द्वारा जिन मकानों पर 2,3 फुट चिन्हित किये गए थे प्रशाशन की तानाशाही के चलते उनके मकानों,दुकानों को पूरी तरह धवस्त कर दिया गया था लेकिन हर अधिकारी इस अतिक्रमण हटाओ मुहिम की जिम्मेदारी लेने से कतरा रहे थे।यहां बता दें कि अब से एक वर्ष पूर्व 05 जनवरी 2020 की सुबह 10 बजे से लहार एसडीएम ओमनारायण सिंह,एसडीओपी उपेंद्र दीक्षित अपने-अपने अमले के साथ आये और भिण्ड भांडेर रोड के पास बसे नगरवासियों के दुकानों व मकानों पर प्रशासन का कहर बर्षाना प्रारंभ कर दिया।वहीं अपने-अपने मकानों व दुकानों को टूटते देख लोगो की आखों से आंसू व दिलो से बददुआएं निकलने लगी साथ ही जब अधिकारियों से इस योजना के बारे में बातचीत कर कुछ पूछने या जानने की कोशिश की गयी कि यह अतिक्रमण किस आधार पर,कैसे और किस-किस दुकानदार या मकान मालिक का कितना-कितना मकान या दुकान अतिक्रमण में है तो प्रशासनिक अधिकारियों ने सही जानकारी ना देकर अपना पल्ला झाड़ लिया।बड़ा सवाल तो यह है कि यदि नगर में भिण्ड भांडेर रोड पर बने मकानों व दुकानों में अतिक्रमण था तो स्थानीय प्रशासन ने इन्हें सरकारी जमीन पर मकान या दुकान बनाने की अनुमति कैसे व क़्यो दी इतना ही नही नगर के भिण्ड भांडेर रोड पर पूर्व में भी सन 2001 में प्रशासन के द्वारा इन्ही जगहों पर लगभग 10-10 फुट अतिक्रमण हटवाया गया था तो प्रशासन ने नगरीय अतिक्रमण को पहले से ही पूर्ण रूप से क़्यो खत्म नही किया साथ ही यहां बता दें कि अतिक्रमण हटाओ मुहिम के चलते दबोह नगर परिषद ने व्यापारियों को अतिक्रमण सम्बन्धी नोटिस 03 जनवरी 2020 को जारी किये थे परंतु दुकान व मकान मालिकों को यह नोटिस 4 जनवरी 2020 को रात में आठ बजे दिये गये इसके अनुसार जनता को 24 घण्टे का समय दिया गया था परंतु सही मायने में व्यक्ति को सामान हटाने के लिये सिर्फ और सिर्फ रात के अंधेरे के 12 घंटे का ही समय दिया गया है यहाँ बता दे कि शासन के नियमानुसार किसी प्रकार के नोटिस में तीन या सात दिन का समय दिया जाता है लेकिन यहाँ नगर परिषद ने जनता को मात्र 24 घण्टे का समय दिया गया था।परन्तु आज तक इन दोषी अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही हुई जिसके चलते दबोह में आज काला दिवस मनाया गया।

*कार्यक्रम से सांसद महोदया रही नदारद,कार्यकर्ताओ में दिखी नाराजगी*

काला दिवस कार्यक्रम के दौरान आमसभा में भिण्ड दतिया सांसद सन्ध्या राय पहुंचने वाली थी परंतु उनका कार्यक्रम किसी कारण वश स्थगित हो गया या फिर यह भी कहलें की उन्होंने आना उचित नही समझा क्यों कि बीते रोज दबोह दौरे के दौरान सांसद सन्ध्या राय दबोह पहुंची थी जिस दौरान भाजपा नेताओं ने विश्राम ग्रह में उन्हें 05 जनवरी 2020 को जनता पर टूटे पहाड़ को लेकर खरी खोटी सुना दी थी शायद इसलिए वह कार्यक्रम से नदारद नही।

*पुतला दहन का कार्यक्रम हुआ स्थगित*

प्राप्त जानकारी के अनुसार काला दिवस मनाने के दौरान कॉंग्रेस शासन में मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ व मंत्री डॉ.गोविन्द सिंह का पुतला दहन करना था परंतु कार्यक्रम में कैसे बदलाव आया यह कहना मुश्किल है क्यों कि हो सकता है की शासन ने इसकी अनुमति न दी हो या फिर भाजपा के वरिष्ठ नेतृत्व ने इसके लिए मंजूरी न दिन हो या फिर यह भी कहा जा सकता है की डॉ.गोविन्द सिंह मप्र में एक कद्दावर नेता के रूप में पहचाने जाते हैं इसलिए उनका सामना करने का साहस भाजपा नही जुटा पाई।

*व्यापारियों का रहा पूर्ण सहयोग बन्द रहा पूरा बाजार*

दबोह व्यापारियों ने अपनी स्वेच्छा से पूरा बाजार बंद कर काले दिवस का पूर्ण रूप से समर्थन किया।जिससे साफ स्पष्ट है कि व्यापारियों के दिल मे कहीं न कहीं उस दिन की कसक जरूर है जो बाजार बंद कर साफ देखने को मिली।दबोह की पीड़ित जनता ने अपना दर्द बयां करते हुए सम्पूर्ण बाजार को बन्द रखा और भाजपा द्वारा मनाये जा रहे काला दिवस का समर्थन किया।

*✍️पत्रकार सुधांशु मुदगल*

विज्ञापन 3

LIVE FM