Sun. Sep 25th, 2022

News India19

Latest Online Breaking News

यह देखिए नगर निगम के आला अधिकारियों को शिक्षित कहा जाए या आप लोग बताएं क्या कह कर लिखा जाए न्यूज़ के अंदर जो नगर निगम के अधिकारी है

यह देखिए नगर निगम के आला अधिकारियों को शिक्षित कहा जाए या आप लोग बताएं क्या कह कर लिखा जाए न्यूज़ के अंदर जो नगर निगम के अधिकारी है वह पढ़े लिखे होते तो नगर निगम के कर्मचारियों के साथ शोषण ना किए होते नगर निगम एक तरफ तो अपने सफाई कर्मचारियों को संविदा वाले कर्मचारियों को स्थाई करने का आदेश माननी रही और जब कंपनी में दे दिया है तो फिर उनको रिटायर किस बेस पर किया जा रहा है और यदि रिटायर किया जा रहा है तो रिटायरी के लिए पेंशन एक जो कर्मचारी रिटायर्ड हो रहा है उसको ₹500000 का चेक दिया जाए सम्मान के साथ उसकी विदाई की जाए और उसकी तनखा में से आधी उसको पेंशन दी जाए जो कि अपने बच्चों का पालन पोषण वह कर सके जिसके कागज भी मौजूद हैं उनको 13 साल पहले रिटायर कर दिया गया है राजेश बाबू जैसे इन सब दीपक बाबू इन सब के चलते अंधा कानून नगर निगम में बनाया गया है बिना किसी चीज की जानकारी किए और इन अनपढ़ बिचारे कर्मचारी जो पढ़े-लिखे नहीं होते उन कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है जबकि यादव नगर निगम अपना कर्मचारी मानकर रिटायर करें और या फिर कंपनी के कर्मचारियों को रिटायरी का नाम ना दें जब उनको कुछ नहीं दे सकते तो उनको नौकरी से भी ना निष्कासित किया जाए मैं रानी न्यूज़ इंडिया 19:  bureau chief मेरठयह देखिए नगर निगम के आला अधिकारियों को शिक्षित कहा जाए या आप लोग बताएं क्या कह कर लिखा जाए न्यूज़ के अंदर जो नगर निगम के अधिकारी है वह पढ़े लिखे होते तो नगर निगम के कर्मचारियों के साथ शोषण ना किए होते नगर निगम एक तरफ तो अपने सफाई कर्मचारियों को संविदा वाले कर्मचारियों को स्थाई करने का आदेश माननी रही और जब कंपनी में दे दिया है तो फिर उनको रिटायर किस बेस पर किया जा रहा है और यदि रिटायर किया जा रहा है तो रिटायरी के लिए पेंशन एक जो कर्मचारी रिटायर्ड हो रहा है उसको ₹500000 का चेक दिया जाए सम्मान के साथ उसकी विदाई की जाए और उसकी तनखा में से आधी उसको पेंशन दी जाए जो कि अपने बच्चों का पालन पोषण वह कर सके जिसके कागज भी मौजूद हैं उनको 13 साल पहले रिटायर कर दिया गया है राजेश बाबू जैसे इन सब दीपक बाबू इन सब के चलते अंधा कानून नगर निगम में बनाया गया है बिना किसी चीज की जानकारी किए और इन अनपढ़ बिचारे कर्मचारी जो पढ़े-लिखे नहीं होते उन कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है जबकि यादव नगर निगम अपना कर्मचारी मानकर रिटायर करें और या फिर कंपनी के कर्मचारियों को रिटायरी का नाम ना दें जब उनको कुछ नहीं दे सकते तो उनको नौकरी से भी ना निष्कासित किया जाए मैं रानी न्यूज़ इंडिया 19: bureau chief मेरठ

विज्ञापन 3

LIVE FM