Fri. Sep 24th, 2021

News India19

Latest Online Breaking News

चंबल की बाढ मे घिरे 15 गांव बाह में चौतरफा बाढ़ का खतरा चंबल यमुना और उटांगन तीनों नदी उफान पर…. रिपोर्टर दीपक जादौन

चंबल की बाढ मे घिरे 15 गांव

बाह में चौतरफा बाढ़ का खतरा

चंबल यमुना और उटांगन तीनों नदी उफान पर

प्रशासनिक टीमो ने सैकड़ों लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया

जिलाधिकारी,एसएसपी व विधायक पहुचे चंबल नदी

पिनाहट। चंबल नदी का रूद्र रूप अभी थमा नहीं है। नदी का जलस्तर लगातार तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में बाढ से घिरे गांवो के सैकडो परिवार बेघर हो गए हैं।जिनको अपने घरो को छोडकर बीहड़ के टीलों पर रहने पड रहा है। चंबल नदी के साथ साथ बाह मे यमुना और उटंगन नदी भी उफान पर हैं। बाह में तीनों नदियों ने अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है।
चंबल का जलस्तर तक 135.90 मीटर तक पहुंच गया।चंबल की बाढ़ में गांव के लोगो को प्रशासनिक टीमो द्वारा के सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम दिनभर चलता रहा।पिनाहट घाट पर सुरक्षा की दृष्टि से पीएससी तैनात कर दी गई लोगों को चम्बल से दूर रहने की अपील की जा रही है।

बाढ प्रभावित गांवो मे दहशत

चंबल नदी की बाढ़ प्रभावित गांवो मे भारी दहशत का माहौल है।यहां लोग रात रात भर जागकर भारी दहशत में अपने मासूम बच्चों और पालतू जानवरों के साथ टीलो पर बैठे नदी की गतिविधि पर नजर बनाये हुऐ है।

उटंगन और यमुना नदी मे उफान

बाह में चंबल और यमुना नदी खे साथ साथ उठंगन भी उफान पर है।तेजी से बढ़ते जलस्तर से लोगों की सांसें थम हुई है। बाह पर तीनों छोर पानी ही पानी नजर आ रहा है। यमुना चंबल और उटंगन नदी मैं उफान से किसानों की हजारों बीघा फसल जलमग्न हो चुकी है।

जिलाधिकारी एसएसपी समेत विधायक पहुची

गुरुवार को जिलाधिकारी आगरा प्रभु नारायण सिह,एसएसपी आगरा मुनिराज व विधायक पक्षालिकासिह नदी का निरीक्षण करने पिनाहट घाट पहूचे।जहां से उमरैठा पुरा मे बाढ पीडितो को सुरक्षित स्थानो तक प्रशासनिक टीभो द्वारा पहुचाने जाने के कार्य को देखने के बाद जिलाधिकारी व एसएसपी बाह के गांव गुढा गोहरा रानीपुरा भटपुरा पहूचे जहां इन गांवो के सम्पर्क मार्गो मे पानी भरने के कारण चल रही मोटर वोट को देखा व अधीनस्थो को कडे निर्देश दिये।

सम्पूर्ण जलमग्न हुआ पुरा उमरेठा

पिनाहट का गांव पुरा उमरेठा जो नदी की बाढ से सम्पूर्ण जलमग्न हो चुका है।गुरुवार को समूचा गांव नदी मे डूबा नजर आया।यहां के निवासी टीलो पर अस्थायी टेंट लगाकर रहते नजर आये।

बाढ पीडित गांव मे खाद्य सामग्री का संकट

चंबल नदी मे आयी बाढ से पीडित गांव उमरैठा पुरा,क्योरी बीच का पुरा,क्योरी ऊपरी पुरा,गुढा,गोहरा,रानीपुरा,भटपुरा,भगवानपुरा,सिमराई,रैहा,कछियारा मऊ की मढैया,झरनापुरा,सुखलाल पुरा,डालपुरा,पिनाहट के निवासियो ने बताया कि खाद्य सामग्री की बडी समस्या है।बच्चो के लिये भरपेट भोजन पशुओ के लिये चारा नही है। शासन प्रशासन द्वारा कोई मदद नही की जा रही है।

विज्ञापन 3

LIVE FM

You may have missed

1 min read