Sat. Sep 25th, 2021

News India19

Latest Online Breaking News

खेरागढ़ में ओवरलोडिंग पर नहीं कोई अंकुश, सड़के बदहाल इलाकाई पुलिस खुशहाल

खेरागढ़ में ओवरलोडिंग पर नहीं कोई अंकुश, सड़के बदहाल इलाकाई पुलिस खुशहाल

 

आगरा(खेरागढ़)। पुलिस प्रशासन ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने में पूर्ण रूप से नाकाम साबित हो रहा है। इन वाहनों की आवाजाही से क्षेत्र की तमाम सड़कें बदहाल हो चुकी हैं। आए दिन ओवरलोड वाहन कस्बे की सड़कों पर दुर्घटनाओं का सबब बन रहे हैं। प्रशासन का ओवर लोड वाहनों पर प्रतिबंध लगाने के दावे खोखले लगने लगे हैं। खेरागढ़ कस्बे से गुरजने वाले सबसे अधिक ओवरलोड वाहन बजरी,तूरी,गटका पत्थर के डंपर है। इन वाहनों ने कस्बे की सड़कों को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया है। वहीं ओवरलोड वाहनों के चलते दुपहिया तिपहिया वाहन चालक दुर्घटना की सम्भावना से हर समय परेशान रहते हैं। क्योंकि सड़क पर ओवरलोड ट्रक रास्ता ही नहीं छोड़ते। कस्बावासियों का कहना है कि शाम ढलते ही सड़कों पर इनकी संख्या सैकड़ों में हो जाती है। रात भर सड़क पर ये ओवरलोड वाहन दनादन दौड़ते हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस की मिलीभगत के बिना ये वाहन चल ही नहीं सकते। कहीं न कहीं क्षेत्रीय पुलिस प्रशासन की मिलीभगत व ज़िले के वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह करने की स्थिति साफ नजर आती है

 

खेरागढ़ के नगला कमाल से सैंया की सड़क पर इन वाहनों की आवाजाही सबसे अधिक है। ओवरलोड डंपर में क्षमता से कई गुना अधिक बजरी,तूरी गटका पत्थर भरा होता है। जिससे जहां सडक़ें बदहाल हो गई हैं। वही हादसे की आशंका बनी रहती है। कस्बे से निकलने वाले ये वाहन जाम का कारण बनते हैं।

 

इनवाहनों के चलते कस्बा वासि काफी परेशान है। दिन के समय गुजरने वाले ये वाहन धुल उड़ाते चलते हैं। नगला कमाल चौराहे से खेरागढ़ उटगिर चौराहे तक सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है। ओवर लोड वाहनों के गुजरने से सड़क से पत्थर उछल कर आसपास के दुकानदारों को पत्थर उछल कर हादसे का डर बना रहता है। कस्बावासियों ने पूर्व में भी प्रशासन से कई बार मांग की है। इन ओवरलोड वाहनों पर रोक लगाई जाए।लेकिन

 

खेरागढ़ व सैयाँ पुलिस के लिए बड़ी अबैध आय का साधन हैं ये ओवरलोड ट्रक 

 

तूरी गिट्टी के भरे हुए ट्रक राजस्थान के खैरागढ़ क्षेत्र में प्रवेश करते हुए सैयां से नेशनल हाईवे 3 पर पहुंचकर अपने गंतव्य के लिए रवाना होते हैं खैरागढ़ क्षेत्र में प्रवेश करते ही पुलिस के कारखास द्वारा तैयार प्राइवेट गुर्गे प्रत्येक ट्रक से तय रुपये ले लेता है इसी तरह सैया पहुंचते ही सैया चौराहे के आसपास खड़ी पुलिस की जीप या सैया कारखास के प्राइवेट गुर्गे इन पर पहुंच वसूली कर उनको आगे जाने देते हैं जो भी ट्रक पैसे देने में आनाकानी करता है उसको थाने पर खड़ा करा दिया जाता है

विज्ञापन 3

LIVE FM

You may have missed