Agra. गांजा तस्करों ने तस्करी के लिए नए नए पैतरे आजमाना शुरू कर दिया है जिससे पुलिस के साथ आंख मिचौली का खेल खेला जा सके और बिना पकड़े ही माल को ठिकाने तक पहुँचाया जा सके लेकिन गांजा तस्करों की यह कवायद काम न आई। चेकिंग के दौरान एसटीएफ ने अंतरराज्यीय स्तर पर मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से 8 कुंतल गांजा पकड़ा गया है जिसकी कीमत डेढ़ करोड़ रुपए आंकी गई है। पकड़े गए तस्कर ओडिशा से ट्रक में छिपाकर गांजा मथुरा लेकर जा रहे थे। पुलिस ने जगनेर के गांव सरैंधी के पास से दोनों को गिरफ्तार किया है। इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया जा रहा है।

ट्रक के फर्श में बनाया गुप्त कैविटी-

गांजा तस्करी की सूचना पर एसटीएफ और क्षेत्रीय पुलिस ने जगनेर क्षेत्र के सरैंधी गांव पर एक ट्रक की चेकिंग की। खाली ट्रक की बाडी के बीच में एक फीट गहरे और दो फीट चौड़े बाक्स की गुप्त कैविटी बनी हुई थी। शक होने पर उन्हें चेक किया गया तो पुलिस के भी होश उड़ गए। लोहे की चादर लगाकर बाक्स पर नट-बोल्ट कसकर उसमें गांजे को छिपाया गया था। इस गुप्त बाक्स में गांजे के 520 पैकेट रखे गए थे। प्रति पैकेट में करीब एक किलो गांजा था। वहीं केबिन के पिछले हिस्से की कैविटी में 280 पैकेट छिपा रखे थे। ट्रक से कुल 800 पैकेट गांजा बरामद किया गया। इन पैकेटों में आठ कुंतल से अधिक गांजा बरामद हुआ।

लखनऊ एसटीएफ ने की कार्यवाही:-

बताया जा रहा है कि एसटीएफ को काफी समय से सूचना मिल रही थी कि ट्रकों में गुप्त कैविटी बनाकर गांजे की तस्करी की जा रही है। एसटीएफ ने जाल बिछाया। सूचना मिली कि ओडिसा से मथुरा के लिए गांजे से भरा ट्रक जा रहा है। एसटीएफ ने क्षेत्रीय पुलिस के साथ मिलकर भरतपुर- धौलपुर हाईवे पर एसटीएफ लखनऊ की टीम ने जगनेर क्षेत्र के सरैंधी गांव के पास हाईवे पर ट्रक को रोककर चेकिंग शुरू की जिसमें सफलता हाथ में ली गई। एक ट्रक से 8 कुंतल गांजा बरामद किया।

मथुरा निवासी है सरगना:-

मौके से गिरफ्तार हुए हाथरस के चंदपा में चांदपुर भटेला निवासी साेनू, वहीं के महमदपुर जाटान निवासी कुलदीप ने पूछताछ में बताया कि बिहार के मूल निवासी नरेंद्र सिंह उर्फ गौतम सिंह वर्तमान में मथुरा के राधा वैली में रहता है। ओडिसा के सोनपुर निवासी राम कुमार बारिक के यहां से यह गांजा मंगाया था। ट्रक से गांजा मध्यप्रदेश, राजस्थान होते हुए मथुरा ले जा रहे थे। पहले भी कई बार ये इसी रूट से गांजा ला चुके हैं। आरोपितों से तीन मोबाइल, 5400 रुपये, जीपीएस डिवाइस और सिमकार्ड भी बरामद हुए हैं। गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ जगनेर थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।