Sat. Sep 25th, 2021

News India19

Latest Online Breaking News

पत्रकार सुरक्षा कानून” बनाने की मांग को लेकर 30 जून को मुख्यमंत्री से मिलेंगे पत्रकार

“पत्रकार सुरक्षा कानून” बनाने की मांग को लेकर 30 जून को मुख्यमंत्री से मिलेंगे पत्रकार
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बढ़ रही पत्रकार उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने के लिए “पत्रकार सुरक्षा कानून” बनाने की मांग को लेकर 30 जून (बुधवार) को उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर मांग पत्र सौंपेगी। यह निर्णय उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष डा. राजेश त्रिवेदी की अध्यक्षता में संपन्न हुई पत्रकारों की बैठक में लिया गया।
मुरली नगर स्थित प्रदेश कार्यालय में बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री रमेश शंकर पांडेय ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में अपराधियों व माफियाओं के बढ़ते प्रभाव से पत्रकार पूरी तरह असुरक्षित होता जा रहा है। आये दिन पत्रकारों पर जानलेवा हमले हो रहे हैं, उनकी हत्याएं हो रही हैं। पुलिस प्रशासन भी पत्रकारों का सहयोग न करके अपराधियों व माफियाओं के साथ खड़ा दिखलाई पड़ता है। मुख्यमंत्री के कड़े आदेशों के बावजूद पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता अपराधियों का बढ़ता प्रभाव निर्भीक पत्रकारों के लिए जान का खतरा बना हुआ है। पुलिस पत्रकारों की पीड़ा को नजरअंदाज कर अपराधी माफियाओं के इशारे पर उल्टे पत्रकारों का ही उत्पीड़न करती है। जिसके चलते प्रदेश में पत्रकारों के अंदर असुरक्षा की भावना व्याप्त हो रही है।
उन्होंने कहा कि पत्रकारों के उत्पीड़न का ज्वलंत प्रमाण बीते दिनों जनपद प्रतापगढ़ में एबीपी चैनल के संवाददाता सुलभ श्रीवास्तव की शराब माफिया द्वारा कराई गई हत्या तथा जनपद मथुरा में एक अपराधी माफिया के खिलाफ समाचार प्रकाशित करने वाले साप्ताहिक समाचार पत्र के संपादक सुभाष सैनी के खिलाफ ही पुलिस द्वारा अपराधी की ओर से रंगदारी की रिपोर्ट लिखे जाने का मामला है। पुलिस अपराधियों के विरुद्ध रिपोर्ट लिखने में आनाकानी करती है। भयंकर से भयंकर घटनाओं की रिपोर्ट जल्दी नहीं लिखती। जांच के नाम पर लंबित रखती है। वही पत्रकार बंधुओं के खिलाफ झूठी रिपोर्ट लिखने में किंचित मात्र भी देरी नहीं लगाती। पुलिस की इस पत्रकार विरोधी भूमिका के चलते प्रदेश का पत्रकार न केवल असुरक्षित है, बल्कि यह परिस्थितियां लोकतंत्र के लिए घातक भी सिद्ध हो सकती हैं।
अध्यक्ष डा. राजेश त्रिवेदी ने कहा कि पत्रकारों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए अन्य राज्यों की भाँति उत्तर प्रदेश सरकार को भी तत्काल “पत्रकार सुरक्षा बिल” लागू करना चाहिए।
अध्यक्ष डा. राजेश त्रिवेदी एवं महामंत्री रमेश शंकर पाण्डेय ने समस्त जनपदों के पत्रकारों से 30 जून को प्रात: हज़रतगंज (लखनऊ) स्थित गांधी प्रतिमा पर पहुंचने की अपील की है।
बैठक में अध्यक्ष डा. राजेश त्रिवेदी एवं महामंत्री रमेश शंकर पाण्डेय के अलावा अली हसन, सुबीर सेन, राकेश कश्यप, अनुराग शर्मा, देवेश नायक, शशिकांत पांडेय, बादशाह खान, लक्ष्मीकांत पाठक, निर्मल सिंह यादव, सुधीर मिश्र, अक्षय मिश्र, आशुतोष शुक्ल, अतुल तिवारी, चंद्रप्रकाश चौरसिया, सोनू कनौजिया, गीता शर्मा, प्रिया भट्टाचार्य, गीता पाल, वैदिका गुप्ता, प्रभा शर्मा, प्रिया मिश्रा, कोमल कनौजिया आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

विज्ञापन 3

LIVE FM

You may have missed