Fri. Jul 30th, 2021

News India19

Latest Online Breaking News

एंकर- बुंदेलखंड के महोबा जिले में अलखराम भले ही अभी घोड़ी पर नही चढ़ पाया हो लेकिन उसकी पोस्ट ने सभी राजनैतिक पार्टियों में हलचल बढ़ा दी रिपोर्ट दिलीप कुमार मिश्रा

एंकर- बुंदेलखंड के महोबा जिले में अलखराम भले ही अभी घोड़ी पर नही चढ़ पाया हो लेकिन उसकी पोस्ट ने सभी राजनैतिक पार्टियों में हलचल बढ़ा दी और एक के बाद एक पार्टियों ने आकर अलखराम से मुलाक़ात की । आज राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग की सदस्या डॉक्टर अंजू वाला ने माधोगंज गांव जाकर अलखराम से मुलाकात कर उसकी होने बाली दुल्हन के घर जाकर वालिग या नावालिग होने की जानकारी ली ।

वी/ओ- दरअसल महोबकंठ थाना क्षेत्र के माधोगंज गांव के रहने बाले अलखराम अहिरवार की शादी 18 जून 2021को होनी थी और अलखराम द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से एक पोस्ट डाली गई थी कि उसे गांव के यादव और परिहार जाती के लोग घोड़ी पर नही चढ़ने दे रहे और धमकी दे रहे कि यदि घोड़ी पर चढ़े तो मार दिए जाओगे । इस मामले में कांग्रेस का एक डेलिगेशन ने माधोगंज आकर अलखराम से मुलाकात की थी और घोड़ी पर चढ़ने के आश्वासन दिया था लेकिन अलखराम की होने बाली दुल्हन कागजी तौर पर नावालिग निकली और अलखराम के अरमानों पर पानी फिर गया । आज राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (दिल्ली) की सदस्या डॉक्टर अंजू वाला माधोगंज गांव पहुँची और अलखराम से मुलाकात कर ग्रामीणों से भी मुलाकात की इसके बाद वह बीहड़ गांव में अलखराम की होने बाली दुल्हन के घर पहुँची और उससे मुलाकात कर बालिग या नावालिग होने की जानकारी ली गई । फिलहाल अलखराम को अभी घोड़ी पर चढ़ने के लिए एक वर्ष इन्तजार करना पड़ेगा क्योंकि उसकी होने बाली दुल्हन कागजी तौर पर सत्रह वर्ष की निकली लेकिन सबसे बड़ी बात तो यह है कि वह अभी हाल में सम्पन्न हुए प्रधानी के चुनाव में बोटर होकर बोट डाल चुकी है आखिर कैसे बोटर हो गई यह अपने आप मे एक सवालिया निशान पैदा करता है ।

बाईट- अलखराम (घोड़ी चढ़ने बाला दूल्हा )- अलखराम ने बताया कि मैडम ने कहा है कि यदि आपकी दुल्हन ने बोट डाला है तो इसकी जांच की जाएगी और बालिग हुई तो शादी होगी नही तो आपको बालिग होने का इंतजार करना होगा ।

बाईट- डॉ.अंजू वाला (सदस्या राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग)- डॉ. अंजू ने बताया कि हमारे पास यह केश आया था कि घोड़ी पर चढ़ने नही दिया जा रहा है जिसकी जांच करने आये थे और यहाँ आकर पता चला कि लड़की नावालिग है और यदि बालिग है तो उसका मेडिकल करा कर पता लगबा लेंगे । यदि बालिग होगी तो शादी होगी नही तो इंतजार करना होगा और दुल्हन बालिग होने पर अलखराम चाहे घोड़ी पर चढ़े या हाथी पर किसी से कोई आपत्ति नही होगी और यह भी हमे पता चला कि अलखराम की होने बाली दुल्हन ने बोट भी डाला है जिसके कागज भी हमे मिल चुके है जिसकी जांच की जाएगी कि किस आधार पर बोट डाला गया ।

विज्ञापन 3

LIVE FM